Best Whatsapp Attitude Status Hindi

short attitude status for whatsapp, attitude quotes, cool whatsapp status quotes, attitude status in hindi, cool attitude status for facebook, attitude style status messages

Best Attitude Status

60 cool facebook status,super cool facebook status,sad attitude status,really cool facebook status,
cool attitude status for facebook in hindi, cool statuses,cool funny status,cool and funny statuses.
Make money from your Website or Blog with BidVertiser
wpid-1430070970004
#‎लडकी‬ तो कभी ‪#‎पटाई‬ नहीँ पर ‪#‎बदनाम‬ तो ऐसे हो रहे है , जैसे_100 रानी यों का ‪#‎अकेला‬ बादशाह हूँ.

गमंडी लड़किया मुझसे दूर ही रहे क्यूंकि मनाना मुझे आता नहीं और भाव में किसी को देता नही!!!

भरे बाजार में हर एक ‪#‎लड़की‬ ‪#‎JALEGI‬ जब, अपनी वाली अपने साथ ‪#‎CHALEGI‬.!!

रोज स्टेटस बदलने से जिंन्दगी नहीं बदलती जिंदगी को बदलने के लिये एक स्टेटस काफी है.

हमारे जिँदगी की कहानी कूछ ऐसी है जिसमे Hero भी हम और Villain भी हम.!!

हाथ मे बस एक ‘बासुँरी’ कि कमी है….वरना, गोपिया हमने भी कई ‘फसाई’ है.

तु अपने पापा की “परी” है।तो क्या हुआ…हम भी अपने बाप के “नवाब” है।

रेस वो लोग लगाते है जिसे अपनी किस्मत आजमानी हो… हम तो वो खिलाडी है जो अपनी किस्मत के साथ खेलते है!!!

हम वो शेर हैं जीसकी गुफा में लोगों के पेर के आने के नीशान हैं पर…… जाने के नही ।

तेरी मोहब्बत को कभी खेल नही समजा , वरना खेल तो इतने खेले है कि कभी हारे नही

जब महसूस हो कि सारा शहर तुमसे जलने लगा है…समझ लेना तुम्हारा नाम चलने लगा है.!!!

हम तो दिलके बादशाह हैं, जो सुनते भी दिल की है, और करते भी दिल की है||

हम जिस शहर के राजा हे वहाँ की दीवार दीवार पर लिखा हे, कि # कानून का आना जाना मना है।

ईस ‪#‎शहर‬ की हवा तक हमारे ‪#‎खिलाफ‬ नहि चल सकती…! तो फिर ‪#‎दूश्मन‬ कि ‪#‎हैसीयत‬ ही क्या है…!!

बुलंदी तक पहुंचना चाहता हूँ मै भी. पर गलत राहो से होकर जाऊ.. इतनी जल्दी भी नही..!!

मैं ‪#‎famous‬ हूँ क्युकि में सच लिखता हूँ तभी आज ज़माने में सबसे मेंहंगा बिकता हूँ!!!

में जानता हु की बादशाह बनने जेसी मुजमे कोई बात नहीं,मगर ये बात भी सुन लो दोस्तों की मेरे जेसा बनने की बादशाह की भी औकात नहीं!!!

लड़की चाहिए तेरे जैसी नखरेवाली…. वरना बहुत मिलती हे सामने से लाइन मारने वाली!!!

अपनी औकात मे रहे ए वक्त……..याद रख-तेरे साथ साथ..”मै” भी बदलूंगा…।।।

में बंदूक और गिटार दोनों चलाना जानता हूं । तय तुम्हे करना हे की आप कौन सी धुन पर नाचोगे..।।

रियासते तो आती जाती रहती हे, मगर बादशाही करना तो.. आज भी लोग हमसे सीखते हे ।

खेल ताश का हो या जिंदगी का , अपना इक्का तब ही दिखाना जब सामने बादशाह हो

तुम गरदन जुकाने की बात करते हो , h हम वौ है जो आंख उठाने वालो की गरदन पऱसाद मै बाट देते है..।।

जिसे आज मुजमे हजार एब नजर आते हे , कभी वही लोग हमारी गलती पे भी ताली बजाते थे !!

बादशाह नहीं बाजीगर से पहचानते है लोग ,, “……क्यूकी…….” हम रानियो के सामने झुका नहीं करते….!!

शायरी का बादशाह हुं और कलम मेरी रानी, अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी ।

पसंन्द आया तो दिल में , नही तो दिमाग में भी नही ।

जिंदगीमें बडी शिद्दत से निभाओ अपना किरदार, कि परदा गिरने के बाद भी तालीयाँ बजती रहे….।।

हम आज भी शतरंज़ का खेल अकेले ही खेलते हे , क्युकी दोस्तों के खिलाफ चाल चलना हमे आता नही ..।

मेरे लफ्जों से न कर मेरे किरदार का फेसला , तेरा वजूद मिट जाएगा मेरी हकिगत ढूंढते ढूंढते !

तू मोहब्बत है मेरी इसीलिए दूर है मुझसे… अगर जिद होती तो शाम तक बाहों में होती ।

जी भर गया है तो बता दो हमें इनकार पसंद है इंतजार नहीं…!

मुझको पढ़ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं, मै वो किताब हूँ जिसमे शब्दों की जगह जज्बात लिखे है….!!

मुझसे नफरत ही करनी है तो इरादे मजबूत रखना.. जरा से भी चुके तो महोब्बत हो जायेगी!!!

जब निकलते हम अपने तेवर मे लड़किया हमे देखते ही बोलने लगती है अपने फीवर मे!!!

न किसी से दुश्मनी है सबसे अपनी यारी तेरी शौतन तो पट गयी चल अब तेरी बरी।

औकात की बात मत कर ‪#‎ऐ_दोस्त‬ … लोग तेरी ‪#‎बंदूक‬ से ज्यादा मेरी ‪#‎आंखो‬ से डरते है!!!

एक और जिन्दगी मांग लो खुदा से, ये वाली तो दुकान में ही कट जानी है!

इश्क न होने के सिर्फ दो तरीके हे.. या तो दिल न बना होता, या तुम ना बनी होती!!!

बस यही सोच कर हर तपिश में जलते आये हैं, धूप कितनी भी तेज़ हो समंदर सुखा नहीं करते!!!

आग लगना मेरी फितरत में नही पर लोग मेरी सादगी से ही जल जाये उस में मेरा कया कसूर!

इश्क की पतंगे उडाना छोड़ दी ।। वरना हर हसीनाओं की छत पर हमारे ही धागे होते.

सौ खामियाँ मुझमे सही मगर, इक खूबी भी है, अपनों को आज तक पराया नहीं किया.

ऐसा कोई शहर नहीं, जहा अपना कहर नहीं, ऐसी कोई गली नहीं जहा अपनी चली नहीं..

सीने पे तीर खाके भी अगर कोई मुस्कुरा दे तो…… निशाना लाख अच्छा हो मगर बेकार जाता है…….!!!

हमारी नियत का पता तुम क्या लगाओगे गालिब…. हम तो नर्सरी में थे तब भी मैडम अपना पल्लू सही रखती थी…।

आज तक एसी कोई रानी नही बनी जो इस बादशाह को अपना गुलाम बना सके |